Blogs & Articles

  1. home
  2. blogs

‘‘मुझे वो दिन याद है, जब बर्तानवी बंदुकें हमारे पर तनी हुई होती थी और हम वन्दे मातरम् गीत गाते हुए बहादुरी से उनका सामना करते थे। वन्दे मातरम् गाने का मतलब हैं, माॅ हम आपको नमन करते हैं। यह गीत गाते हुए हमने पुरा स्वतंत्रता संग्राम किया। यह गीत हमारी मातृभूमि के सौंदर्य और उनकी प्रकृति का वर्णन करता है। इसे सदा राष्ट्र के गीत के रूप में गाया गया है।‘‘

हम सब हिन्दुस्तानी है और इस भारतवर्ष में रहते हैं, इसी के अन्न, जल से हम पलें हुए है और इसी के सहारे हम जीए रहेंगे। आगे भी इसी के सहारे जीना है। हमारे बच्चों के लिए जो आने वाली पीढ़ी हैं, उसके लिए यही संदेश होना चाहिए कि अपनी भारत माता से प्यार करों, अपने देश के  प्रति बहुत अधिक अपनापन होना चाहिए। हमने देखा हैं, परदेश में, आश्चर्य की बात हैं कि एक-एक देश में हर एक आदमी अपने देश के बारे में जानता है और अपने देश के प्रति बड़ा अभिमान रखता है। उनसे पुछने पर कि भई आपके देश में तो इतनी गरीबी हैं तो भी क्या हुआ? यह हमारा जो देश है। इसी ने हमें जन्म दिया है, हम तो ये हमारा देश जो हैं, ये हमारे लिए महान चीज हैं।

 इसी प्रकार हर हिन्दुस्तानी, भारतीय को सोचना चाहिए कि ये भारतवर्ष जो हैं, या भारत जिसे कहते है, जो हिन्दुस्तान है, ये हमारा देश है और इसके लिए हमें देशभक्ति रखनी चाहिए। जैसे ही आपके अंदर देशभक्ति आ जाएगी आपको आश्चर्य होगा कि अनेक गुण आपके अंदर आ जाएंगें, अनेक गुण। सबसे बड़ा गुण तो ये आएगा कि आपके अंदर जो बेकार की महत्वकांक्षाए हैं और जो आपके अंदर बेकार की इच्छाएं हैं, सब खत्म हो जाएगी। लगेगा कि इस देश की उन्नति हो तो हमारी भी उन्नति हो जाएगी। हमने तो अपने जीवन में बहुत से लोग देखे। हमारा समय और था। हम बड़े भाग्यशाली हैं कि ऐसे-ऐसे महान त्यागमूर्ति लोग हमें देखे व उनको देखकर के हमने जाना कि इस देश का स्वातंत्रय उन्होंने कमाया। स्वतंत्रता कमाने के बाद जो हाल हुआ वह आपको सबको मालूम है।

अब आपका कर्तव्य हैं, जब आप सहजयोग में आ गए हैं, कि पहले अपने भारतवर्ष में क्या खराबी है, क्या बुराईयां है, उसको हटाना चाहिए और इसके प्रति नितांत श्रद्धा रखनी चाहिए। तभी आपका देश दुरूस्त हो सकता है, नहीं तो आजकल जैसे लोग आए हैं, आप सब जानते हैं, बताने की जरूरत नहीं है। सिर्फ ये हैं कि हमें वैसा नहीं होना हैं, हमें अपने देशवासियों के लिए और हमारे देश के लिए सब कुछ करना चाहिए, जो हम कर सकते हैं।